आंवलीघाट पुल के लोकार्पण कार्यक्रम के कार्ड में नहीं मिला पूर्व केंद्रीय मंत्री सरताज सिंह को स्थान,

by sadmin
Spread the love

नई दिल्ली। आंवलीघाल पुल के लोकार्पण कार्यक्रम में होशंगाबाद से 5 बार सांसद और 2 बार के विधायक रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री सरताज सिंह को स्थान नहीं मिल पाया है। लोकार्पण कार्यक्रम के लिए वितरित किए गए कार्ड में उनका नाम नहीं है।इसको लेकर सरताज सिंह का कहना है कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है।

गुरुवार को सिवनी-मालवा विधानसभा के नर्मदा नदी पर बने आंवलीघाट ब्रिज का लोकार्पण दोपहर 3.15 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे। ब्रिज की सौगात मिलने पर हथनापुर में CM चौहान का स्वागत समारोह का आयोजन क्षेत्रीय विधायक प्रेमशंकर वर्मा ने रखा है। समारोह में प्रदेश के PWD मंत्री गोपाल भार्गव, प्रभारी मंत्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह, विशिष्ट अतिथि सांसद राव उदय प्रताप सिंह, होशंगाबाद डॉ. सीतासरन शर्मा सहित तीनों विधायक सहित अन्य आमंत्रित किया गया। लेकिन सिवनी-मालवा विधानसभा से विधायक रहे व पूर्व PWD मंत्री सरताज सिंह चौहान को आमंत्रण पत्र के अतिथियों में स्थान नहीं दिया गया। जबकि आंवलीघाट में नए ब्रिज की सौगात सरताज सिंह के तत्कालीन PWD मंत्री रहने के दौरान मिली थी। उनके ही कार्यकाल में मिली सौगात के लोकार्पण समारोह में उन्हें आमंत्रित व सम्मान में स्थान नहीं मिलन चर्चा का विषय बना हुआ है।

आमंत्रण पत्र में अतिथियों की सूची में नहीं नाम।

आमंत्रण पत्र में इन्हें मिली स्थान

मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, PWD मंत्री गोपाल भार्गव, जिला प्रभारी मंत्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह, विशिष्ट अतिथि सांसद राव उदय प्रताप सिंह, विशेष अतिथि होशंगाबाद विधायक, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा, सोहागपुर विधायक विजय पाल सिंह, पिपरिया विधायक ठाकुरदास नागवंशी, भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष माया नारोलिया, भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष दर्शन सिंह चौधरी भाजपा जिला अध्यक्ष माधव अग्रवाल।

पूर्व मंत्री सरताज बोले-मुझे नहीं कोई सूचना

पूर्व मंत्री सरताज सिंह से भास्कर संवाददाता ने बातचीत की। उन्होंने कहा पुल के लोकार्पण समारोह की मुझे ऑफिशियल कोई जानकारी नहीं मिली और न बुलाया गया। मैं जब PWD मंत्री था। तब यह पुल स्वीकृत कराकर निर्माण कार्य शुरू कराया था। मंत्री रहने के दौरान मैंने विधानसभा क्षेत्र में कई विकास कार्य कराएं।
कार्यक्रम में आने से किसी को रोका नहीं

लोकार्पण समोराह में पूर्व मंत्री व क्षेत्र के पूर्व विधायक सरताज सिंह का नाम आमंत्रण पत्र अतिथियों की सूची में आने के सवाल पर विधायक प्रेमशंकर वर्मा ने कहा कि वर्तमान में जो पद पर है। उनका नाम अतिथियों की सूची में रखा है। सरताज सिंह हमारे वरिष्ठ है। उन्हें किसी ने कार्यक्रम में आने की मनाई थोड़ी है। वे सादर आमंत्रित है।

केंद्र और राज्य सरकार में मंत्री रह चुके हैं सरताज
सरताज सिंह भाजपा से 5 बार सांसद, 2 बार विधायक रह चुके हैं। केंद्र में एक बार स्वास्थ्य मंत्री, प्रदेश में वन व लोक निर्माण विभाग (PWD) मंत्री रह चुके हैं। होशंगाबाद संसदीय क्षेत्र से 1989 से 1996 तक की अवधि में तीन लोकसभा चुनावों में कांग्रेस प्रत्याशी रामेश्वर नीखरा को लगातार हराया। 1998 में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी अर्जुन सिंह को हराया। 1999 में लोक सभा चुनाव नहीं लड़ा। 2004 में लोक सभा चुनाव में विजयी रहे। 2008 में होशंगाबाद जिले के सिवनी मालवा विधान सभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा और कांग्रेस प्रत्याशी, तत्कालीन विधान सभा उपाध्यक्ष हजारी लाल रघुवंशी को हराया। 2018 में वे सीतासरन शर्मा से हार गए।

उम्र के आधार पर कटा था टिकट

भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके सरताजसिंह का टिकट 2018 के चुनाव में अधिक उम्र बताकर काटा गया था। इससे नाराज होकर कांग्रेस में चले गए लेकिन विधानसभा चुनाव हारने के बाद कभी होशंगाबाद सहित प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस के साथ सक्रिय नहीं दिखाई दिए। 15 दिसंबर 2020 को भोपाल में किसान सम्मेलन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनकी भाजपा में उनकी वापसी कराई।

Related Articles

Leave a Comment