ED ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में यूनिटेक पर शिकंजा कस दिया है

by sadmin
Spread the love

नई दिल्ली| प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए रियल एस्टेट सेक्टर की नामी कंपनी यूनिटेक के संस्थापक रमेश चंद्रा और उनकी बहू को प्रीति चंद्रा को गिरफ्तार कर लिया है। प्रीति चंद्रा यूनिटेक के पूर्व मालिक संजय चंद्रा की पत्नी हैं। ये गिरफ्तारी मनी लांड्रिंग मामले में हुई है। प्रवर्तन निदेशालय ने इस मामले में कार्नौस्टी मैनेजमेंट (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड के राजेश मलिक को भी गिरफ्तार किया है। इन तीनों को सोमवार शाम को दिल्‍ली से गिरफ्तार किया। ED ने बताया कि इन सभी को रिमांड के लिए 5 अक्टूबर को कोर्ट के समक्ष पेश किया जाएगा। बता दें कि यूनिटेक के पूर्व मालिक संजय चन्द्रा और उनके भाई पहले से ही मुंबई जेल में बंद है। इससे पहले ED ने 30 सितंबर को यूनिटेक ग्रुप के खिलाफ जारी जांच के सिलसिले में करीब 30.29 करोड़ रुपये मूल्य के 29 लैंड पार्सल जब्त किए थे। ये लैंड पार्सल उत्तर प्रदेश के नोएडा में सेक्टर 96-98 में स्थित हैं। ED ने कहा था कि ये जमीनें यूनिटेक ग्रुप के चंद्रा की तरफ से कार्नौस्टी मैनेजमेंट (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड (CMPL) को अवैध रूप से आवंटित की गई थीं। ED ने पाया कि यूनिटेक ग्रुप ने गलत तरीके से कमाई करीब 347.95 करोड़ रुपये की राशि कार्नोस्टी ग्रुप को डायवर्ट की थी। इसके बदले में कार्नौस्टी ग्रुप की संस्थाओं ने इन पैसों से भारत और विदेशों में कई अचल संपत्तियां खरीदी हैं। ED का दावा है कि इस मामले में आपराधिक तरीके से हासिल हुई कुल आय करीब 7638.43 करोड़ रुपये है।

 

Related Articles

Leave a Comment