Spread the love

दक्षिणापथ। देश के अलग- अलग राज्यों में मानसून ने दस्तक दे दी है. बारिश का मौसम हर किसी को पसंद होता है. चारों तरफ हरियाली छाई होती है. लेकिन इस मौसम में बालों और त्वचा का खास खयाल रखने की जरूरत होती है. इस मौसम में नमी बढऩे की वजह से चिपचिपाहट महसूस होती है. इसके अलावा बाल झडऩे की समस्या भी बढ़ जाती है. ऐसे में आपको त्वचा और बालों का खास खयाल रखने की जरूरत होती है.
ज्यादातर लोग गर्मी में धूप से बचने के लिए सन स्क्रीन लगाते हैं. इससे चेहरे पर सनबर्न, रेडनेस की समस्या नहीं होती है. त्वचा को सुरक्षित रखने के लिए सन स्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं. गर्मी ही नहीं, मानसून में भी सन स्क्रीन का इस्तेमाल करना बहुत जरूरी होता है. कई लोगों को लगता हैं कि मानसून में सन स्क्रीन लगाने से क्या फायदा होता है. तो चलिए हम बताते हैं मानसून में सन स्क्रीन लगाने के फायदे और किस तरह की सन स्क्रीन लगाना चाहिए.
मानसून में सन स्क्रीन क्यों जरूरी
ज्यादातर लोगों सन स्क्रीन का इस्तेमाल धूप में बाहर निकलने से पहले करते हैं, क्योंकि सन स्क्रीन त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने का काम करती है. आप मानसून के मौसम में त्वचा को धूप की किरणों से बचाने के लिए सन स्क्रीन जरूर लगाएं. सन स्क्रीन त्वचा को ड्राई होने से बचाता है. ये एक नेचुरल मॉश्चराइजर की तरह काम करता है. इसके अलावा त्वचा में पोषण भरने का काम करता है.
मानसून में किस तरह की सनस्क्रीन लगाएं
बरसात के मौसम में रेगुलर सन स्क्रीन की जगह वॉटर रेसिस्टेंट सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें. घर से बाहर निकलते समय सनस्क्रीन जरूर रखें और तीन घंटे बाद दोबारा इस्तेमाल करें. इस मौसस में एसपीएफ सनस्क्रीन की जरूरत नहीं होती है. इस मौसम में नमी ज्यादा होती है इसलिए जेल बेस्ड सनस्क्रीन लगाएं . ये त्वचा को ऑयल फ्री लुक देता है.
बाहर निकलने से 15 मिनट पहले लगाएं
विशेषज्ञों के मुताबिक ज्यादातर लोग घर से बाहर निकलते समय सन स्क्रीन लगाते हैं. इसका कोई खास फायदा नहीं होता है. हमेशा बाहर निकलने से 15 मिनट पहले सन स्क्रीन लगाएं. ये आपकी त्वचा में गहराई से काम करता है. साथ ही धूप से भी बचाता है.

Related Articles