डॉ. योगिता हत्याकांड में कोर्ट में दो घंटे हुई जिरह, आरोपियों के हमले के बाद पिता को मिली सुरक्षा

by sadmin
Spread the love

आगरा: आगरा एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी की छात्रा डॉ. योगिता गौतम हत्याकांड में बुधवार को कोर्ट में जिरह हुई। इस दौरान वादी पक्ष की सुरक्षा के लिए एक दरोगा और सिपाही भी मौजूद रहे। नजफगढ़, नई दिल्ली निवासी अंबेश कुमार की बेटी डॉ. योगिता की 18 अगस्त 2020 को हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने हत्याकांड में आरोपी डॉ. विवेक तिवारी को जेल भेजा था। अंबेश कुमार का आरोप था कि वह छह अगस्त को बेटे डॉ. मोहिंद्र गौतम के साथ कोर्ट में आए थे। सुनवाई के बाद लौटते समय दीवानी परिसर में आरोपी पक्ष ने हमला बोल दिया था। इससे बेटे के हाथ में चोट लगी थी। उनको भी धमकी दी थी। उन्होंने एसएसपी ऑफिस में प्रार्थनापत्र दिया था। बुधवार को भी केस में सुनवाई थी। अंबेश कुमार आए हुए थे। उन्होंने बताया कि उनकी सुरक्षा के लिए थाना एमएम गेट के एक दरोगा और सिपाही आए थे। दीवानी परिसर में वह उनके साथ रहे। कोर्ट में केस में दो घंटे तक जिरह हुई।

Related Articles

Leave a Comment