Spread the love

जन जन के नेता का अपमान नहीं सहेगा आदिवासी समाज

दक्षिणापथ,रायगढ़( सरोज श्रीवास)। घरघोड़ा पुर्व विधायक संसदीय सचिव स्व.ओमप्रकाश राठिया के द्वारा दस वर्षों में धरमजयगढ़ विधानसभा का कायापलट कर हर क्षेत्र में विकास की नींव रखी और क्षेत्र को विकसित किया है यह कहना है भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के जिला मंत्री सोनू सिदार का। सोनू सिदार ने कहा हम किसी का विरोध नही कर रहे ना किसी के नाम को अपमानित करने का प्रयास है कुछ कांग्रेस के नेता हैं जो अपनी ही पार्टी में जमीन तलाशने में लगे जिन्हें लोग छुटभैया कहने लगे हैं वो स्थानीय विधायक को खुश करने के चक्कर में स्वर्गीय मंत्री के नाम को खराब करना चाहते हैं। भाजपा नेताओं का कहना है की धरमजयगढ़ विधानसभा में दो दिग्गज विधायक रहे हैं और दोनों ने लंबे समय तक क्षेत्र में काम किया है,भाजपा नेता सोनू सिदार का कहना है स्वार्थ की राजनीति व चमचागिरी छोड़ कर सार्थक विषय पर मांग किया जाना चाहिए अवसर सब को मिला है भाजपा व कांग्रेस कार्यकाल जो भी विधायक जनता के बीच कार्य किया है उसके अनुरूप सम्मान दिया जाना चाहिए जिस विधायक के कार्यकाल में विकास व निर्माण कार्य हुआ है उसका नामकरण उस विधायक के नाम से कर दिया जाये महाविद्यालय
,विद्यालय ,सड़क, पुल, चौक , कार्यालय , भवन , और जनता के बीच इस बात को भी रखा जाये किसके द्वारा क्या विकास का कार्य किया गया है.

कांग्रेस हो या भाजपा का सर्व सम्मान से स्वीकार होगा अन्यथा मरणोपरांत किसी के कार्य तप का अपमान कांग्रेस ना करे, ना ही किसी दूसरे के कार्य का श्रेय लेकर जूठन खाने का प्रयास ना करें।
क्षेत्र की जनता दोनों स्वर्गीय विधायक की सम्मान करती है और करती रहेगी परन्तु कुछ कांग्रेसी अपने ही का नेता नाम बदनाम करने में लगे हैं उन्हें लगता है दुसरे का किया कार्य का श्रेय नामकरण कर हासिल किया जाये तो विधायक खुश हो जायेंगे पर विधानसभा की जनता के बीच झूठ परोस कर नाम कमाने की जगह हंसी का पात्र बन रहे हैं , जनता चाहे जिसे स्वीकार करे परन्तु किस विधायक का योगदान क्या है यह जानती है किसने अपने प्रयासों से निर्माण करवाया है किसके शासनकाल में क्षेत्र में विकास की सौगात मिला है।
भाजपा नेता सोनू सिदार ने कांग्रेस के नेताओं को धिक्कारते हुए कहा कि नामकरण के नाम से खुद ही अपने नेता की थू-थू करा रहे हैं बिना कोई योगदान से नामकरण की मांग करना व्यक्ति के स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने का कार्य कर रही है, हम तो चाहते हैं जिस जगह जिसका योगदान है वहां ससम्मान उसका नामकरण मुर्ति स्थापित होना चाहिए इससे जनता को किसी तरह कोई आपत्ती नही होगी परन्तु विधायक को खुश करने के लिए अपनी खोई अस्मिता खोया सम्मान पाने के लिए इस तरह घिनोना ओझी राजनीति कर अपना ही किरकीरी करने में लगे हैं हम तो कांग्रेस के विधायक से आग्रह करेंगे व ज्ञापन के माध्यम से बात रखने का प्रयास भी करेंगे कि कुछ कांग्रेसी नेता जो अपनी जमीं जनता के बीच से खो चुके उनके बहकावे में ना आयें और स्वर्गीय पुर्व विधायक के नाम को धूमिल होने ना दे।

Related Articles