मारपीट के आरोपियों पर न्याय संगत धाराओं में मामला दर्ज करने की मांग को लेकर, ग्रामीणों ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ राहुल टिकरिहा के नेतृत्व में किया बेरला थाना का घेराव…

by sadmin
Spread the love

पुलिस पर राजनैतिक दबाव में आरोपियों को संरक्षण देने के लगाए आरोप
-प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को 2 दिनों को दिया अल्टीमेटम,  फिर से आंदोलन की दी चेतावनी
दक्षिणापथ, बेरला।
ब्लाक के ग्राम करामाल निवासी जितेंद्र साहू से हुई मारपीट के मामले में आरोपियों पर न्याय संगत धाराओं के तहत मामला दर्ज करने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने सोमवार सुबह 11 बजे बेरला थाना का घेराव कर दिया । यहां सैकड़ों ग्रामीणों ने सभापति जिला पंचायत राहुल टिकरिहा के नेतृत्व में प्रदर्शन किया । इस दौरान ग्रामीण पुलिस प्रशासन पर आरोपियों को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे थे । प्रदर्शन के लिए सुबह से ही ग्रामीण लिमाही चौक पर इकट्ठा होने लगे थे । सुबह करीब 11 बजे लिमाही चौक से नारेबाजी करते हुए ग्रामीण बेरला पुलिस चौकी पहुंचे । प्रदर्शन की सूचना मिलने पर एडिशनल एसपी विमल बैस बेरला थाना पहुंचे । प्रदर्शनकारी प्रकरण में न्याय संगत धाराओं को जोड़ने और आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए । प्रदर्शन में महादेव वर्मा, बलराम सिन्हा, इंद्र वर्मा, नंदलाल साहू, अमरचंद चतुर्वेदी, धनेश्वर पाल, फागुराम साहू, भूनेश्वर साहू, अनिल, परदेसी, रामबिहारी सिन्हा, मना यदु , भोलू यदु, शशि चतुर्वेदी, कैलाश चतुर्वेदी, उतरा साहू, सेवती साहू, केकती सिन्हा, रमनिया, मोहनी सिन्हा, रमशिला, दुलारी उर्मिला, तिजमत, ललिता, उमेश्वरी शवित्री, अंकलिहिन, रेखा, केवरा आदि उपस्थित थे । 

6 घण्टे के प्रदर्शन के बाद भी नहीं निकला समाधान, 2 दिनों का अल्टीमेटम
करीब 3 घंटे के प्रदर्शन के बाद एडिशनल एसपी ने थाना प्रभारी पुष्पेंद्र भट्ट को उचित धाराओं को प्रकरण में जोड़ने के लिए निर्देशित किया ।  इसके लिए थाना प्रभारी शाम 5 बजे तक उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया ।  बेरला पुलिस के आश्वासन पर प्रदर्शनकारी थाना परिसर को खाली कर लिमाही चौक पर जमे रहे ।  शाम 5 बजे प्रदर्शनकारी फिर से थाना पहुंचे, यहां प्रकरण में धारा जोड़ने को लेकर थाना प्रभारी और प्रदर्शनकारियों के बीच करीब डेढ़ घंटे तक वार्तालाप होती रही लेकिन आश्वासन के बावजूद उचित समाधान नहीं निकलने से प्रदर्शनकारी नाराज हो गए और फिर से प्रदर्शन की चेतावनी । 
पुलिस ने मेडिकल रिपोर्ट का दिया हवाला
 पुलिस ने डॉक्टर की मेडिकल रिपोर्ट का हवाला देकर धारा जोड़ने में पेच फंसा होने की बात कही ।   राहुल टिकरिहा ने बताया कि पुलिस ने अब तक पीड़ित पक्ष पर आरोपियों द्वारा हमले में प्रयुक्त ईट और खून से सने कपड़े कोई जब्त नहीं किया है ।  स्पष्ट है कि पुलिस सत्ता पक्ष के दबाव में प्रकरण को कमजोर करने में जुटी हुई है, लेकिन पुलिस को 2 दिनों का अल्टीमेटम दिया गया है ।  प्रकरण में उचित धारा नहीं जोड़े जाने पर फिर से बेरला थाने के सामने प्रदर्शन किया जाएगा । 

सत्ता पक्ष के दबाव में प्रकरण कमजोर करने के लगाए आरोप
 प्रार्थी जितेंद्र साहू ने बताया कि बेरला शराब दुकान में चखना दुकान का संचालन करने वाले राजकुमार सेन और उसके 2 साथी ने 14 जुलाई को रात्रि 11 बजे उसकी पत्नी और बच्चे के सामने घर में घुसकर ईट से से प्राणघातक हमला किया । वही पर्स और सोने की चैन भी लूट ली । इस मारपीट से सिर पर गंभीर चोट आई है । उसके सिर पर  26 टांके लगाने पड़े हैं । मामले में बेरला थाना में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराने पर राजनैतिक दबाव में सामान्य धारा 294, 506, 323, 34 भादवि के तहत मामला दर्ज किया गया है, जबकि घटनाक्रम और अपराध की प्रवृत्ति के अनुसार धारा 307, 458, 326 भादवि के तक मामला दर्ज किया जाना था। 

Related Articles