खुर्सीपार में टेल एंड तक भी पहुंचे शुद्ध जल, इसके लिए हो रहे उपाय, कलेक्टर ने किया निरीक्षण

by sadmin
Spread the love

-सफाई के औचक निरीक्षण के लिए जवाहर बाजार फल मार्केट पहुंचे कलेक्टर ने साफ-सफाई के प्रबंध को लेकर जताई प्रसन्नता
-मार्निंग विजिट से चुस्त-दुरूस्त हो रही साफ-सफाई की व्यवस्था
-सफाई की स्थिति देखने सुबह-सुबह जवाहर बाजार स्थित फल मार्केट पहुंचे कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे
-सफाई की थी बढिय़ा व्यवस्था, दुकानदारों ने रखी थी डस्टबिन, गारबेज के लिए बनाया गया था कंपोस्ट पिट
दक्षिणापथ, दुर्ग।
खुर्सीपार के वार्ड 33 के टेल एंड तक भी शुद्ध जल की आपूर्ति सुनिश्चित हो, इसके लिए कार्य नगर निगम द्वारा किये जा रहे हैं। आज इन कार्यों का निरीक्षण करने कलेक्टर यहां पहुंचे। उन्होंने नागरिकों से कहा कि शुद्ध और पर्याप्त जल उपलब्ध कराना प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस दिशा में लगातार कार्य किये जा रहे हैं।
कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने सभी निगमों में अधिकारियों को मार्निंग विजिट के निर्देश दिये हैं और साफ-सफाई की बारीक मानिटरिंग के लिए कहा है। इसका अच्छा नतीजा सामने आ रहा है और फल मार्केट जैसी बेतरतीब जगहें भी बिल्कुल साफ-सुथरा नजर आ रही हैं। सुबह-सुबह कलेक्टर ने नगर निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के साथ पावरहाउस स्थित जवाहर बाजार फल मार्केट का औचक निरीक्षण किया। यहां पर सफाई की व्यवस्था मुकम्मल दिखी। उन्होंने व्यापारियों से बातचीत की। पूछने पर व्यापारियों ने बताया कि साफ-सफाई की अच्छी व्यवस्था निगम द्वारा की गई है। सुबह और शाम दोनों समय निगम के सफाईकर्मी आते हैं और साफ-सफाई की जाती है। रात के वक्त डोर-टू-डोर कचरे का कलेक्शन होता है। इससे मंडी में सफाई की व्यवस्था अच्छी हुई है। इस मौके पर अधिकारियों ने बताया कि सूखे और गीले कचरे के लिए अलग-अलग डस्टबीन दिये गए हैं। गीले कचरे को इक_ा कर कंपोस्ट पिट में डाला जाता है और इससे खाद बनाई जाती है। कलेक्टर ने मौके पर ही एक व्यापारी से पूछा कि आपको डस्टबीन मिले हैं क्या। व्यापारी ने डस्टबीन दिखाया। कलेक्टर ने पूछा कि ये पूरा भर जाता है तो कैसे करते हैं। व्यापारी ने बताया कि पीछे कंपोस्ट पिट है वहाँ पर डाल देते हैं। कलेक्टर ने अच्छी सफाई व्यवस्था के लिए यहाँ पर उपस्थित टीम की प्रशंसा की और इसी तरह से सफाई व्यवस्था की निरंतर मानिटरिंग करते रहने के निर्देश दिये।
कोसा नाला चैलाइजेशन का कार्य भी देखा
कलेक्टर ने कोसा नाला चैनलाइजेशन का कार्य भी देखा। यहां पर 3 करोड़ रुपए की लागत से चैनलाइजेशन का कार्य किया जा रहा है। चैनलाइजेशन के कार्य पूरा होने से जलभराव की स्थिति पर नियंत्रण प्राप्त किया जा सकेगा। कलेक्टर ने इंदू आईटी के पास स्थित नाले में चल रहे कांक्रीटीकरण कार्य का निरीक्षण भी किया।
डेंगू की आशंका वाले क्षेत्रों का किया निरीक्षण
कलेक्टर ने इस दौरान डेंगू के हाटस्पाट रह चुके क्षेत्रों का निरीक्षण भी किया। वे संतोषी पारा वार्ड क्रमांक 25 पहुंचे। उन्होंने यहां नागरिकों से डेंगू नियंत्रण को लेकर किये जा रहे कार्यों के संबंध में पूछा। उन्होंने नागरिकों से कहा कि निगम की टीम डेंगू से लडऩे लगातार कार्य कर रही है। इसके लिए सतत फागिंग आदि किये जा रहे हैं। टैमीफास का वितरण किया जा रहा है। आप लोग कहीं भी साफ पानी का जमावड़ा नहीं होने दें। कू लर आदि में पानी पूरी तरह खाली कर दें। कलेक्टर ने इन क्षेत्रों में कूलर की जांच भी कराई।

Related Articles