खनिज विभाग की लापरवाही के चलते प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम के किसानों का फसल बुवाई का कार्य प्रभावित….

by sadmin
Spread the love

दक्षिणापथ, गुंडरदेही ( राजू मिश्रा ) । गुंडरदेही ब्लॉक मुख्यालय से 9 किलोमीटर दूर प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत सनोद के आश्रित ग्राम नवागांव में 2 जून मध्य रात्रि से सप्ताह भर अवैध रूप से मुरूम का उत्खनन किया जा रहा था इस संबंध में 2 जून को ग्रामीणों का आक्रोश फूटा और एक चैन माउंटिंग मशीन और तीन हाईवा को रोककर कार्यवाही की मांग पर अड़े रहे ।
खनिज विभाग में पदस्थ जिला अधिकारी प्रवीण चंद्राकर एवं सुशांत सोनी के मार्गदर्शन पर लगातार जिले सहित गुंडरदेही ब्लॉक में अवैध कारोबार फल-फूल रहा है वही ग्रामीणों से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम के आश्रित ग्राम नवागांव में 11 दिन से सड़क में गाड़ी खड़े रहने से कृषि कार्य प्रभावित हो रहे हैं।
गुंडरदेही ब्लॉक में प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम एक चुनिंदा गांव है जहां पर अधिकारी की मनमानी सामने आ रहा है यहां के आम नागरिकों की आवाज को खनिज विभाग दबाने की प्रयास कर रही है आखिर में उस ग्रामीणों का मांग क्या है और उनकी मांग को अधिकारी क्यों नहीं सुना जा रहा है ।
ग्रामीणों की मात्र दो मांग –
पहला – ग्रामीणों का कहना है किसकी अनुमति से शासकीय तलाब से मुरूम रातो रात खोदा गया है उस व्यक्ति को ग्रामीणों के समक्ष पेश करें।
दूसरा- खुदाई में लगे वाहन पर कार्यवाही के अलावा जो खनिज संपत्ती की चोरी हुआ है उस पर गौर खड़ी अधिनियम के तहत कार्यवाही की मांग कर रहे हैं।
जिस समय ग्रामीणों ने गाड़ी रोक कर कार्यवाही की मांग कर रहे थे उस समय के बाद से अब तक खनिज विभाग के अधिकारी उन ग्रामीणों से बात करने को तैयार नहीं आखिर क्यों,खनिज विभाग के जिम्मेदार अधिकारी प्रवीण चंद्राकर और सुशांत सोनी क्यों उस खनिज माफिया को ग्रामीणों के समक्ष पेश नहीं कर रहे हैं या ग्रामीणों ने डायरेक्ट अधिकारी पर आरोप लगाते हैं कहा कि ठेकेदार व सरपंच व पंचायत प्रतिनिधि एवं खनिज अधिकारी प्रवीण चंद्राकर के साथ सांठगांठ कर राज्य सरकार की खनिज संपदा को बेचने में मुख्य भूमिका खनिज विभाग की है।
जिला बनने के बाद पहली बार जिला खनिज अधिकारी अधिकारी प्रवीण चंद्राकर और सुशांत सोनी के द्वारा गुंडरदेही ब्लॉक के पैंडी ,रजौली ,बघेली ,रुदा ,मड़ियापार गुड़िया ,डूंडहेरा , नवागांव के अलावा अन्य जगहों पर अवैध रूप से भारी भरकम मुरूम निकालने का संरक्षण देते हैं। प्रवीण चंद्राकर सिर्फ लोगों को आवेदन मंगवाते हैं और कलेक्टर के आदेश आते तक बेधड़क अवैध रूप से मुरूम का परिवहन करवाते हैं और बिना परमिशन के धड़ल्ले से मुरम का अवैध उत्खनन करवा रहे हैं जिससे राज्य शासन को काफी नुकसान हो रहा है । इतना ही नहीं मां तांदुला नदी के सीना चीरने में ट्रैक्टर माफियाओं के साथ भी खनिज विभाग के अधिकारी कर्मचारी के साथ गांठ को दर्शाता है।
अगर अवैध कारोबार की सूचना पत्रकारों ने जब खनिज अधिकारी प्रवीण चंद्राकर को देता है तब प्रवीण चंद्राकर ने वीडियो फोटो मांगते हैं जब पत्रकार फोटो वीडियो अधिकारी को भेजते हैं तो तत्काल उस रेत माफिया व मुरूम माफिया को फोटो वीडियो भेज कर खदान से गाड़ी बाहर निकलवा देते हैं आप गाड़ी निकाल लो इस तरह की कृत्य बालोद जिले में पदस्थ प्रवीण चंद्राकर के द्वारा किया जा रहा है।
नवागांव में अवैध रूप से मुरूम उत्खनन के संबंध में हमने जब प्रवीण चंद्राकर से बात किया था उन्होंने कहा गाड़ी पर कार्यवाही कर रहे हैं इसके अलावा लगभग 1 लाख 40 हजार रुपया की पेनाल्टी मुरूम खुदाई का लग सकता है।

गांव में कृषि कार्य पिछड़ रहा –
आखिर इस गांव के किसान अभी तक 50 एकड़ धान का का बुवाई नहीं किया है क्योंकि जिस रोड से ट्रैक्टर व बैल लेकर किसान जाएंगे उसी रोड पर खनिज विभाग के द्वारा किया गया कारवाही की बड़ा हाईवा चैन माउंट सड़क में खड़ा कर कर बाधक बन गए हैं किसान की समस्या सुनने क्षेत्र के जनप्रतिनिधि भूमिगत है। आखिर पूर्व में सरपंच पुत्र रवि यादव ने स्वीकारा था कि कांग्रेसी समर्पित जनपद अध्यक्ष के पति हेमंत साहू के द्वारा उस गाड़ी को वहां तक पहुंचाने में मुख्य भूमिका अदा किया था ।
काफी लंबे समय से उस ग्राम पंचायत नवागांव में पदस्थ पंचायत सचिव भावन साहू के सांठगांठ के दर्शाते आदर्श ग्राम के किसानों को किसी कार्य से होना पड़ा वंचित भाई सरपंच पुत्र रवि यादव भी काफी अवैध उत्खनन के मामले में सुर्खियों पर है ग्रामीणों के सामने रवि यादव का कोई जवाब नहीं।
सरपंच विमला यादव के पुत्र रवि यादव ने कार्यवाही स्थल पर उन्होंने 200 ग्रामीणों के बीच में जानकारी दिया की ग्राम पंचायत में सड़क ठेकेदार श्री राम इन्फोटेक कंपनी को मुरूम निकालने का प्रस्ताव बनाए हैं इस बात को लेकर काफी देर से बहस बाजी चल रहा था, इस बीच ग्रामीण संजय कोसरे राजेश चंदेल ,मानिक मारकंडे ,जितेन चंदेल, तरुण गायकवाड ,शेखर धनकर, बिल्लू ठाकुर ,जयपाल यादव ,शब्बीर अंसारी उधर बघेल ,लक्ष्मण मारकंडे ,एवं ग्रामीणों के समक्ष इस बात का निर्णय लिया गया कि सरपंच सचिव के द्वारा अवैध उत्खनन करवाए गए मुरूम का हिसाब के लिए सरपंच को जानकारी मांगा तब सरपंच पुत्र ने सोमवार को जानकारी देने की बात पर सहमति बना फिर हाल एक चैन माउंटिंग मशीन और तीन हाईवा सरपंच व कोटवार के सुपुर्द में दिया गया है।
सरपंच पुत्र रवि यादव का कहना है की श्री राम इन्फोटेक कंपनी को मुरूम निकालने का प्रस्ताव ग्राम पंचायत ने बना है खनिज विभाग से परमिशन आने के बाद मुरूम उत्खनन करने की बात किया गया है।
पूरे मामले को लेकर जिला भाजपा के महामंत्री प्रमोद जैन ने कहा इस तरह अधिकारियों के द्वारा मनमानी बर्दाश्त नहीं करेंगे भारतीय जनता पार्टी मंडल गुंडरदेही उस गांव में निरीक्षण करने जाएंगे।

Related Articles