करारी पराजय के बाद आम जनता से दूर हो गए हैं रमन : घर में बैठकर कोरी बयानबाजी कर रहे : राजेंद्र साहू

by sadmin
Spread the love

32 माह के कार्यकाल में भूपेश सरकार ने हर वर्ग की जेब में डाला पैसा

मोदी सरकार खाद की सप्लाई भी नहीं कर पा रही, वैक्सीन का संकट भी बरकरार, भाजपा नेताओं में हिम्मत है तो मोदी से करें सवाल

दक्षिणापथ, दुर्ग । पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह द्वारा छत्तीसगढ़ के आम आदमी का जीवन कष्टदायक होने के बयान पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेंद्र साहू ने चुटकी ली है। राजेंद्र ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री का बयान हास्यास्पद है। सच ये है कि भूपेश सरकार ने पिछले 32 माह के कार्यकाल में छत्तीसगढ़वासियों के हित में कारगर फैसले किये हैं। राजीव गांधी न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, समर्थन मूल्य पर अनाज और वनोपज की खरीदी और हाफ बिजली बिल जैसे फैसलों से छत्तीसगढ़ के लोगों को आर्थिक रूप से राहत मिली है।
राजेंद्र ने तंज कसते हुए सवाल किया है कि क्या डॉ रमन सिंह अपने 15 साल के भाजपा शासनकाल में आम जनता किसान, मजदूर सहित सभी छत्तीसगढ़वासियों की पीड़ा व्यक्त कर रहे हैं। भाजपा के 15 साल के राज में किसानों को नकली खाद और नकली बीज दिया जाता था। रमन सरकार ने किसानों को 2100 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान की कीमत और 300 रुपए प्रति क्विंटल बोनस से वंचित रखने का काम भी किया। अनुसूचित जनजाति परिवारों को जर्सी गाय देने का वादा करने के बाद भी रमन सिंह मुकर गए। उनके कार्यकाल में बेरोजगारी बढ़ी। आम जनता को मिलने वाली जरूरी सुविधाओं से वंचित रखा गया।
राजेंद्र ने कहा कि खाद की कमी, वैक्सीन की कमी, आम आदमी का जीवन कष्टदायक होने जैसे मुद्दे उठाने वाले डॉ. रमन सिंह और भाजपा के सांसदों सहित सभी भाजपा नेता बताएं कि उन्होंने प्रदेश में खाद और वैक्सीन की कमी दूर करने के साथ ही राज्य सरकार के हिस्से की जीएसटी की राशि दिलाने केंद्रीय नेताओं को कितने बार पत्र लिखा है?
राजेंद्र ने सवाल किया कि भाजपा नेताओं का प्रतिनिधिमंडल इन मांगों को लेकर क्या कभी केंद्रीय नेतृत्व से मिला है? सच ये है कि भाजपा के नेता बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी, महिलाओं पर हो रहे अत्याचार सहित केंद्र सरकार की सारी विफलताओं को छुपाने के लिये ऊलजलूल बयानबाजी कर रहे हैं।
राजेंद्र ने कहा कि कांग्रेस की भूपेश सरकार द्वारा आम जनता, किसान, मजदूर, युवा और महिलाओं के जीवन में समृद्धि लाने किसानों का कर्जा माफ, समर्थन मूल्य पर किसानों की फसल खरीदी, राजीव गांधी न्याय योजना से 9 हजार रुपए प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि, 2 रुपए प्रति किलो की दर से गोबर खरीदी, तेंदूपत्ता सहित 52 वनोपज की समर्थन मूल्य में खरीदी, 26 लाख लोगों को रोजगार गारंटी योजना के तहत रोजगार दिया है।
राजेंद्र ने कहा कि गौठान योजना के माध्यम से महिलाओं और युवाओं को रोजगार के अवसर देने और नरवा, गरूवा, घुरवा अऊ बारी योजना लागू कर गांवों को स्वावलंबी बनाने की ओर अग्रसर है। पिछले 32 माह में छत्तीसगढ़ के निवासियों की आय बढ़ी है। जनहित से जुड़े इन फैसलों से आम जनता को राहत मिली है। डॉ. रमन सिंह आम जनता से पूरी तरह कट गए हैं। इसीलिये उन्हें वास्तविक स्थिति का पता नहीं है। वे हवा-हवाई बयानबाजी कर रहे हैं।

Related Articles