डिजिटलाइजेशन की चुनौतियां बहुत, प्रेस व पब्लिक की भूमिका पुलिस के लिए महत्वपूर्ण

by sadmin
Spread the love

0 कोरबा प्रेस क्लब में आयोजित परिचर्चा में शामिल हुए आईजी डांगी्
0 कोरबा एसपी ने कहा- संवादहीन व्यक्ति अवसादग्रस्त हो जाता है

दक्षिणापथ, कोरबा । बिलासपुर व सरगुजा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक रतनलाल डांगी रविवार को कोरबा प्रेस क्लब तिलक भवन में डिजिटलाइजेशन की चुनौतियां, पुलिस-प्रेस व पब्लिक की भूमिका विषय पर आयोजित परिचर्चा में मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए।
उन्होंने कहा कि कोरोना काल में वर्चुअल मीटिंग से बहुत फायदा हुआ। डिजिटलाइजेशन से बहुत से फायदे हैं तो इसके नुकसान और चुनौतियां भी हैं। सोशल मीडिया में महिलाओं व युवतियों के द्वारा शेयर की गई फोटो, वीडियो को एडिट कर या वायरल कर अपराध करने वालों को पकड़ना पुलिस के लिए चुनौतीपूर्ण रहता है। कोरोना काल में अपराध करने के बाद लॉकडाउन का फायदा उठाकर अपराधी छिपते रहे हैं। ऐसे आरोपियों को पकड़ना पुलिस के लिए चुनौती था, लेकिन प्रेस और पब्लिक की मदद से कई अपराधियों को पकड़ने की चुनौतियां पुलिस ने पूरी की। आईजी ने कहा कि डिजिटलाइजेशन की चुनौतियां बहुत हैं, लेकिन प्रेस व पब्लिक की भूमिका पुलिस के लिए इस मायने में महत्वपूर्ण हैं।


परिचर्चा में शामिल हुए एसपी भोजराम पटेल ने कहा कि परिवर्तन प्रकृति का नियम है और इसे स्वीकार करना ही चाहिए। परिवर्तन को स्वीकार नहीं करने वाला पीछे रह जाता है और संबंधों में खटास भी आ जाती है। समाज में रहने वाले सभी व्यक्तियों के लिए आपसी संवाद जरूरी है। जो व्यक्ति अपने आप से भी संवाद नहीं करता वह अवसादग्रस्त हो जाता है। संवाद हमें स्वस्थ, शांत व ऊर्जावान बनाता है। एसपी ने कहा कि प्रत्येक वह व्यक्ति जो अपराधी को पकड़ने, अपराध की रोकथाम में प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष मदद करता है वह अपने आप में पुलिस होता है। कोरबा जिला से जुड़ी समस्याओं का समाधान भी यहां की जनता के पास है, खुलकर चर्चा करें, हम समाधान का माध्यम हैं।


परिचर्चा के प्रारंभ में आईजी श्री डांगी व एसपी श्री पटेल ने दीप प्रज्ज्वलित कर परिचर्चा का शुभारंभ किया। प्रेस क्लब की ओर से आईजी व एसपी का स्वागत किया गया। स्वागत उद्बोधन प्रेस क्लब अध्यक्ष ने दिया व मंच का संचालन मो. सादिक शेख ने किया। अंत में शॉल, श्रीफल व स्मृति चिह्न भेंट कर अतिथि द्वय को सम्मानित किया गया। इस मौके पर कोरोना काल में वारियर्स की भूमिका निभाकर रोकथाम में अहम योगदान देने वालें पुलिस कर्मियों को भी सम्मानित किया गया। पुलिस परिवार की ओर से भी आईजी व एसपी को स्मृति चिह्न भेंट किया गया। कार्यक्रम में एएसपी कीर्तन राठौर, डीएसपी मुख्यालय पदोन्नत एएसपी द्वय रामगोपाल करियारे व खोमनलाल सिन्हा, कोरबा सीएसपी योगेश साहू, कोतवाली टीआई विवेक शर्मा सहित समाजसेवी श्रीमती भगवती अग्रवाल, सुधा झा, शिक्षक संघ से ओम प्रकाश बघेल, पार्षद दिनेश सोनी, एस मूर्ति, पूर्व पार्षद महेश अग्रवाल, सामाजिक कार्यकर्ता विनोद सिन्हा के अलावा कोरबा प्रेस क्लब के पदाधिकारी एवं सदस्यगण उपस्थित रहे।

Related Articles