डीएमएफ की बैठक में विधायक वोरा ने उठाया शहर में धीमी गति से चल रहे विकास का मुद्दा

by sadmin
Spread the love

-वोरा की मांग पर पटरीपार में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए मिले 54 लाख
-अधिकारियों को समयसीमा में कार्य पूर्ण करने प्रभारी मंत्री ने दिए निर्देश
दक्षिणापथ, दुर्ग।
कलेक्ट्रेट में दुर्ग जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर की अध्यक्षता में 7 जुलाई को डीएमएफ की बैठक हुई। जिसमें शहर विधायक अरुण वोरा ने कहा कि ढाई साल में डीएमएफ से दुर्ग शहर के लिये सिर्फ 3 काम ही स्वीकृत हुए हैं। वोरा ने बैठक में कहा कि ये काम भी अभी तक पूरे नही हो पाए हैं। साइंस कॉलेज में पेयजल व आदर्श स्कूल और जेआरडी शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल में कमरों के संधारण के कार्य मंजूर किये गए, लेकिन ये काम अधूरे हैं। इन कार्यों को तेजी से पूरा किया जाना चाहिए ताकि छात्र-छात्राओं को इसका लाभ मिल सके।
वोरा ने शहर में मंजूर किये गए डीएमएफ के कार्यो के अलावा अन्य विकास कार्यों को भी तेजी से पूरा कराने की मांग भी की। वोरा ने प्रभारी मंत्री से कहा कि बोरसी-रूआंबांधा मार्ग, अमृत मिशन योजना और सुगम सड़क योजना के कार्य काफी धीमी गति से चल रहे हैं। पुलगांव नाला डायवर्सन और आवास योजनाओं के कार्य भी रुक-रुक कर हो रहे हैं। इन सभी कार्यों को तेजी से पूरा किया जाना चाहिए। वोरा की शिकायत पर प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये।
वोरा ने शहर में जनहित के कार्यों के लिए डीएमएफ से राशि मंजूर करने की मांग भी की। उन्होंने पटरीपार की 1 लाख की आबादी के लिए धमधा नाका आयुर्वेदिक अस्पताल परिसर में संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में सुविधाओं के विस्तार के लिए डीएमएफ से 54 लाख रुपए स्वीकृत करने की मांग की। इसके अलावा दीपक नगर और तकियापारा में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने की मांग भी की, ताकि सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूलों की सुविधा का लाभ हर वर्ग को मिल सके।

Related Articles