समझ से परे खनिज विभाग के अफसरों की कार्यप्रणाली सूचना मिलने की तीन घंटे बाद पहुंची, कई गाड़ियां अवैध परिवहन करते हुए हो गई फरार

by sadmin
Spread the love

दक्षिणापथ,बालोद। जिले में भरपूर मात्रा में खनिज सम्पदा है जिसके चलते दिनोदिन खनिज माफिया जिले में पनपते जा रहे है। सुस्त खनिज अफसरों के कारण माफियाओं को सह मिलती जा रही है। ताजा मामला पिकरीपार गांव में तब देखने को मिला जब शासकीय जगह से धड़ल्ले से मुरम निकाला जा रहा था। चैन माउंटेन के जरिये खुदाई कर आधा दर्जन से अधिक हाइवा गाड़ी से अमर बिल्डर कम्पनी द्वारा परिवहन किया जा रहा था। जिसकी जानकारी खनिज विभाग के जिम्मेदारों को दे दी गई लेकिन। लेकिन 3 घण्टे बाद खनिज इंस्पेक्टर व उनकी टीम मौके पर पहुँची। तब तक केवल एक चैन माउंटेन व एक हाइवा ही मिली।
खनिज अफसरों की कार्यप्रणाली पर उठने लगे सवाल
पिकरीपार में खनिज विभाग की ओर से किये गये कार्यवाही को लेकर कई तरह के सवाल उठने लगे हैं। क्योंकि जानकारी सही समय पर मिलने के बाद विभाग के जिम्मेदारों द्वारा लेटलतीफी की गई जिसके चलते आधा दर्जन हाईवा में से केवल 1 ही हाईवा को विभाग ने पकड़ा। कहीं विभागीय जिम्मेदार माफिया को बचाने के लिए देर तो नहीं की? क्या विभाग के जिम्मेदारो की ओर से मुरम खनन करने वाले को सूचना पहले दे दी गई ताकि वह भाग सके।
सुबह से की जा रही थी खुदाई
आपको बता दें कि अमर बिल्डर कंपनी द्वारा गुण्डरदेही ब्लाॅक में सड़क निर्माण का कार्य किया जा रहा है। बारिश के चलते कई रास्तों को आवाजाही के लिए बनाने हेतु मुरम की बेहद आवश्यकता है। लेकिन कंपनी द्वारा पंचायत सरपंच से मिली भगत करके अवैध रूप से शासकीय जमीन से मुरम निकाला जा रहा था। जिसके लिए खनिज विभाग की ओर से किसी भी तरह की अनुमति नहीं ली गई थी। मिली जानकारी के अनुसार सुरज उगते ही कंपनी द्वारा चैन माउंटेन और दर्जनों हाईवा को अवैध काम में लगा दिया था।
पूरे वर्ष भर किया जाता है अवैध खनन
मिली जानकारी के अनुसार अमर बिल्डर नामक कंपनी द्वारा सड़क निर्माण के लिए उपयोग में लाये जाने वाले आधे से ज्यादा मुरम अवैध रूप से खोदकर उपयोग में लाये जाते हैं। वर्तमान में इस कंपनी द्वारा बालोद जिले के करहीभदर, मोखा, निपानी, बटरेल होते हुए जामगांव पहुंच मार्ग का निर्माण किया जा रहा है। उक्त सड़क निर्माण का कार्य लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत एडीबी प्रोजेक्ट के माध्यम से किया जा रहा है। उक्त निर्माण कार्य में जो गांव इसके दायरे में आता है उस गांव के जनप्रतिनिधियों से मिली भगत करते हुए अवैध मुरम की खुदाई कर खपा देते हैं।
पूरे मामले पर माइनिंग इंस्पेक्टर शशांक सोनी ने कहा कि जानकारी मिलने पर पिरकीपार पहुंचे जहां अवैध खुदाई करते चैन माउंटेन व एक हाईवा को जब्त कर आगे की कार्यवाही की जा रही है।

Related Articles