हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में डेंगू बीमारी को कवर

by sadmin
Spread the love

मुंबई| डेंगू बीमारी ऐसी बीमारी है, जिसका खतरा वैसे तो पूरे साल रहता है, लेकिन बरसात के मौसम में यह प्रचंड रूप धारण कर लेती है। यह बीमारी एडीज प्रजाति के मच्छरों के काटने से फैलती है। हर साल इस बीमारी से लाखों लोग प्रभावित होते हैं, जिसमें बच्चे, बुढ़े, जवान सब शामिल है। यह बीमारी लगातार बढ़ रही है। 2019 में देश में डेंगू के 1.57 लाख मामले दर्ज किए गए, जो 2018 में 1.01 लाख मामलों से काफी अधिक है। यह बीमारी इतनी बड़ी है कि स्थानीय सरकार और नगर निगम को लोगों को जागरूक करने के लिए समय-समय बड़े स्तर पर अभियान चलाना पड़ता है।
डेंगू बीमारी से कैसे निपटें
बरसात का मौसम आते ही जगह-जगह जल जमाव और गंदे पानी की वजह से मच्छरों का पनपना तेजी से शुरू हो जाता है और यही चीज डेंगू बीमारी के फैलने का सबसे बड़ा कारण है। इसलिए घर में और अपने आसपास पानी का जमाव न होने दें और साफ सफाई का पूरा ध्यान दें। हालांकि, यह बीमारी कभी भी और किसी को भी हो सकती है, ऐसे में आप अपने पास एक ऐसी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी रख लें, जो डेंगू बीमारी के इलाज को कवर करती हो। रिलायंस जनरल इंश्योरेंस आपको यह सुविधा देता है।
हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में डेंगू बीमारी को शामिल करने के क्या हैं फायदे
1. अधिकतर मामलों में डेंगू बीमारी घर पर ही ठीक हो जाती है। लेकिन हमने कई गंभीर केस भी देखे हैं, जहां मरीज को अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है। अस्पताल में जाने का मतलब है भारी भरकम मेडिकल बिल। इसमें बेड और दवाईयों के खर्चे लगातार बढ़ते हैं। मरीज के ब्लड प्लेटलेट्स जब तक उचित स्तर पर न आ जाए तब तक उसका इलाज चलता रहता है। अगर आपके पास डेंगू बीमारी को कवर करने वाली एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी होगी, तो आप इस तरह के खर्चों से खुद को बचा सकते हैं।
2. इसके कवर में अस्पताल में भर्ती होने से पहले होने वाले मेडिकल खर्च, अस्पताल में भर्ती होने पर खर्च और अस्पताल में भर्ती होने के बाद होने वाले मेडिकल खर्च शामिल होता है।
3. इसके अलावा इसके कवर में वो मरीज भी शामिल होते हैं, जो गंभीर स्थिति में नहीं है और घर पर रहकर डेंगू बीमारी इलाज करा रहे हैं। इसमें उन्हें डॉक्टर कंस्लटेशन, डायग्नोस्टिक टेस्ट, सभी तरह की दवाईयां, होम नर्सिंग आदि सुविधा मिलती है।

Related Articles

Leave a Comment