ग्रामीण विकास मंत्रालय के सचिव ग्राम घोटवानी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम में हुए शामिल

by sadmin
Spread the love

सड़क निर्माण के लिए टेराजाईम तकनीक को अपनाया जा रहा है.

दुर्ग। गत दिवस 16 सितंबर को भारत सरकार ग्रामीण विकास मंत्रालय के सचिव नागेन्द्र नाथ सिन्हा सहित अधिकारीगणों ने धमधा ब्लाक के ग्राम घोटवानी में आयोजित कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ में निर्मित सड़कों एवं संधारित सड़कों की जानकारी ली, उन्होंने परिक्षेत्र में निर्मित सड़कों की गुणवत्ता का भी आंकलन किया। राज्य के लिए तीसरी चरण में स्वीकृत की गई सड़कों के प्रगति की भी जानकारी ली। उल्लेखनीय है कि ग्राम घोटवानी में आजादी की 75 वीं, वर्षगांठ पर आजादी का अमृत महोत्सव का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के ग्रामीण विकास मंत्रालय अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती रेणु पिल्लई, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, छत्तीसगढ़ शासन के सचिव आर. प्रसन्ना एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी छत्तीसगढ़ ग्राम सचिव आलोक कटियार उपस्थित थे।
कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों का स्वागत परंपरागत रूप से ग्रामवासियों तथा स्व-सहायता समूह के सदस्यों द्वारा किया गया। नागेन्द्र नाथ सिन्हा ने अपने उद्बोधन में छत्तीसगढ़ में निर्मित ग्रामीण सड़कों एवं संधारित सड़कों की गुणवत्ता की प्रशंसा की। उन्होंने नई तकनीक के उपयोग से बनाई जाने वाली सड़कों की गुणवत्ता व लागत में कमी होने व पर्यावरण संरक्षण के लिए अहम बताया। सचिव श्रीमती पिल्ले ने इस अवसर पर कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य तीसरे चरण के कार्यो में देश में प्रथम स्थान पर है।
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अंतर्गत घोटवानी में नवीन एवं उन्नत टेक्नालॉजी के प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क का निर्माण कराया गया है। सड़क का निर्माण बेस कोर्स में टेराजाईम एवं पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रखते हुए किया गया है। डामर की कुल मात्रा की 8 प्रतिशत कमी के साथ अनुपयोगी प्लास्टिक का उपयोग करते हुए सड़क का निर्माण किया गया है। कार्यक्रम के पश्चात् सड़क विकास मंत्रालय (भारत सरकार) के निदेशक देवेन्दर कुमार शर्मा के द्वारा स्थल पर किए गए कार्यों में प्रयुक्त मटेरियल की गुणवत्ता निर्धारित मापदण्ड के अनुरूप सही पाया गया पाया गया। ग्रामीण विकास मंत्रालय के सचिव नागेन्द्र नाथ सिन्हा ने स्व-सहायता समूह के कार्योें की सराहना की। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना तथा मुख्यमंत्री ग्राम सड़क एवं विकास योजना के मुख्य अभियंता ए.के राही, आर.बारी, एस.एन. शुक्ला अधीक्षण अभीयंता एवं विभागीय अभियंता तथा अन्य राज्यों से आए प्रतिभागीयों के समक्ष् प्रदर्शन व परीक्षण कर नवीन टेक्नालॉजी एवं वेस्ट प्लास्टिक का उपयोग करने के संबंध में प्रस्तुतीकण किया गया।

Related Articles

Leave a Comment