मुख्यमंत्री के गृह विधानसभा क्षेत्र में अपराधों का ग्राफ तेजी से बढ़ रहाहै-जितेंद वर्मा

by sadmin
Spread the love

दुर्ग। सूबे की सियासत में गर्माहट बनी हुई है मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए रस्साकशी चल रहा है। मुख्यमंत्री अपनी कुर्सी बचाने के लिए जोड़ तोड़ की राजनीति में व्यस्त हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के गृह विधानसभा पाटन में अपराध खुले आम हो रहा है। अपराधों पर अंकुश लगा पाने में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू असफल साबित हो रहे हैं। सनद रहे कि मुख्यमंत्री , गृहमंत्री , कृषिमंत्री और लोक स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री दुर्ग जिले से ताल्लुक रखते हैं। उपरोक्त बाते छत्तीसगढ़ भाजपा विधायक दल के स्थाई सचिव जितेंद वर्मा ने प्रेस को जारी बयान में कहा। गौरतलब है कि चरोदा- कुम्हारी से लगे गांव – मुर्मुन्दा में कुछ दिनों पूर्व शराब का जखीरा पकड़ाया था। अवैध शराब बनाने का कार्य धड़ल्ले से चल रहा है। जिस पर लगाम नही कसा गया तो अपराधिक गतिविधियों का ग्राफ तेजी से बढ़ता जाएगा। वर्मा ने आगे कहा कि जब से
छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनी है तब से प्रदेश में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। पाटन देशी शराब दुकान के सुपरवाइजर येपाल कुमार पर आधा दर्जन अपराधियों ने मटिया रोड़ में प्राणघातक हमला कर पैसा सहित कीमती सामान को लूट लिया।
इस लूटपाट और हमले में एपाल कुमार के सर पर गंभीर चोट भी लगी है। अपराधी युवकों ने कट्टा भी रखा था जिसे येपाल को गोली मारने के लिए निकाल भी लिया गया था। ये पूरी साजिश बदमाशों ने शराब दुकान के पैसे को लूटने के लिए किया था। वर्मा ने इस घटना पर आक्रोश जताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के गृह विधानसभा और पाटन थाना से महज 3 किलोमीटर की दूरी पर इस घटना का घटित होना लचर कानून व्यवस्था को दर्शता है। इस घटना से साफ जाहिर होता है कि पाटन सहित प्रदेशभर में अपराधियों के हौसले बुलंद है बेखौफ होकर जरायम की दुनिया में अपराध कीनई इबारत लिख रहे हैं। छत्तीसगढ़ प्रदेश में कांग्रेस की सरकार जब से बनी है तब से लगातार अपराध में बढ़ोतरी हो रही है, अपराधी बेखौफ होकर अपराध कर रहे हैं।
पाटन देशी शराब दुकान के सुपरवाइजर येपाल कुमार पर हुए प्राणघातक हमला दुःखद व निंदनीय है। मुख्यमंत्री के गृह विधानसभा क्षेत्र पाटन में अपराधी अब कट्टे के नोक पर लूट को अंजाम दे रहे है। मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र मे कोई भी सुरक्षित नहीं है।अपराधियों ने सुपरवाईजर से गाड़ी, पैसा, मोबाइल सहित ATM कार्ड को लूट लिया।पाटन शराब दुकान के कर्मचारियों के साथ घटने वाली यह पहली घटना नहीं है। इसके पहले भी शराब दुकान के कर्मचारियों के साथ मारपीट की घटना हुई थी।जिससे पाटन विधानसभा असंवेदनशील हो गया है। जिस पर समय रहते अंकुश नही लगा पाए तो पाटन अपराध का गढ़ बन जाएगा।

प्राणघातक हमला कर अपराधियों ने एपाल कुमार को घायल कर लूट लिया। येपाल के सूझबूझ के चलते एक बड़ी दुर्घटना भी टल गई। अपराधियों ने गोली चलाने के लिए कट्टा भी निकाल लिया था। इतने बड़े दुर्घटना के बाद भी अपराधी अभी तक पुलिस के पकड़ से बाहर है। अगर पुलिस गाड़ी का सायरन नहीं बजता तो एपाल के साथ बड़ी घटना घट सकती थी।  वर्मा ने प्रदेश में बढ़ते अपराध और लचर कानून व्यवस्था पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपनी कुर्सी बचाने में लगे हुए है और प्रदेश के अपराधी अपराधिक गतिविधियों को बेखौफ होकर अंजाम देने में लगे हुए है।

Related Articles

Leave a Comment