Spread the love

दक्षिणापथ, बीजापुर । अरविंदो सोसाइटी और एचडीएफसी बैंक द्वारा चलाए जा रहे देश व्यापी कार्यक्रम ’शिक्षा में शून्य निवेश नवाचार’ के अंतर्गत राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 पर विस्तृत चर्चा-परिचर्चा और शिक्षकों को इसके सफल क्रियान्वयन के लिए तैयार करने हेतु समग्र शिक्षा-बीजापुर के सहयोग से विशेष वेबिनार का आयोजन किया गया। ऑनलाइन सम्मेलन में मुख्य अतिथि जिला शिक्षा अधिकारी प्रमोद ठाकुर थे। विशिष्ट अतिथियों में शामिल हुए विजेंद्र राठौर जिला मिशन समन्वयक बीजापुर, वेंकट रमन येटला सहायक परियोजना समन्वयक और अशोक शर्मा राष्ट्रीय प्रशिक्षण प्रमुख रूपांतर अरविंदो सोसाइटी शामिल हुए। ज़िले के सैकड़ों शिक्षकों ने सोशल मीडिया के माध्यम से प्रशिक्षण सत्र में प्रतिभागिता की और एनईपी 2020 पर अपने विचार भी प्रकट किए। वेबिनार में विचार प्रकट करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी प्रमोद ठाकुर ने कहा मातृ-भाषा में शिक्षा नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के महत्वपूर्ण बिन्दुओं में से एक है जिसका सकारात्मक प्रभाव बच्चों की प्रारंभिक शिक्षा पर पड़ेगा। इससे रटने की बजाए बच्चे अनुभावत्मक रूप से विषयों को समझने में सफल एवं सक्षम बनेंगे और शिक्षा के प्रति उनका झुकाव भी बढ़ेगा। जब देश के बच्चे पढ़ने और बढ़ने में अग्रसर होते हैं तो निश्चित ही समाज का भी उत्थान होता है। नई शिक्षा नीति समाज की कायाकल्प करने की शक्ति रखती है। इसके साथ प्रमोद ठाकुर ने अरविंदो सोसाइटी को राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर वेबिनार की श्रृखंला शुरु करने के लिए धन्यवाद भी दिया और प्रयासों की प्रशंसा भी की। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि विजेंद्र राठौर ने कहा अब विद्यालयों में भी छात्रों को व्यावसायिक शिक्षा का लाभ मिलेगा और वे नए-नए रोजगारों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। नई शिक्षा नीति परिवर्तनकारी सिद्ध होगी। बीजापुर ज़िले के शिक्षकों के लिए विशेष वेबिनार का आयोजन करने के लिए अरविंदो सोसाइटी आभार और बधाई की पात्र है। एपीसी वेंकट रमन येटला ने कहा कि परिवर्तन समय की मांग है। नई शिक्षा नीति नए बदलाव और परिवर्तन लेकर आएगी।
वेबिनार में उपस्थित शिक्षा अधिकारियों और शिक्षकों को संबोधित करते हुए अशोक शर्मा राष्ट्रीय प्रशिक्षण प्रमुख अरविंदो सोसाइटी ने कहा कि इससे पहले भी दो शिक्षा नीतियां भारतवर्ष में लागू हुई हैं जिनमें कई संशोधन भी किए गए। नई शिक्षा नीति शिक्षा और युवाओं की बदलती आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर बनाई गई है जिसके सफल क्रियान्वयन के लिए सभी का मिलकर प्रयास करना आवश्यक है। कोई भी नीति केवल कागज़ों तक रहकर सफल नहीं हो सकती। जब तक उसे पूरी निष्ठा के साथ क्रियान्वित नहीं किया जाता है तब तक उसके सकारात्मक प्रभाव नहीं मिल सकते। प्रभाव प्राप्त करने के लिए परिवर्तन को स्वीकार करना ज़रूरी है और नई शिक्षा नीति परिवर्तन पर बल देती है। नई शिक्षा नीति पर देशभर के शिक्षकों को उन्मुख करने के उद्देश्य से अरविंदो सोसाइटी देश के विभिन्न राज्यों के ज़िलों के लिए वेबिनार का आयोजन कर रही है। इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ के बीजापुर के शिक्षकों के लिए वेबिनार का आयोजन किया गया। जिससे हज़ारों शिक्षकों को लाभ मिलेगा। इस दौरान मास्टर ट्रेनर दीपक ने विस्तार से राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रत्येक बिन्दु पर शिक्षकों के बीच चर्चा-परिचर्चा की और उन्हें सफल क्रियान्वयन के प्रति उन्मुख भी किया।

Related Articles