दुर्ग में मेडिकल सुविधाएं बढ़ाने के फैसले का विरोध क्यों कर रहे भाजपा नेता? मेडिकल स्टूडेंट्स और मरीजों के हितों के साथ कुठाराघात किसलिये, रमन, कौशिक जवाब दें – राजेंद्र साहू

by sadmin
Spread the love

रमन सरकार के 15 साल के कार्यकाल में दुर्ग जिले को नहीं मिली मेडिकल कॉलेज की सौगात : भूपेश सरकार ने फैसला किया तो विरोध करने लगे

दक्षिणापथ, दुर्ग । प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेंद्र साहू ने भाजपा नेताओं से सवाल किया है कि आखिर वे दुर्ग जिले को मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं को बंद क्यों कराना चाहते हैं। किसी भी जिले में मेडिकल कॉलेज खुलना बड़ी सौगात मानी जाती है। दुर्ग जिले में चंदूलाल चंद्राकर स्मृति मेडिकल कॉलेज की सौगात देने के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के फैसले का विरोध आखिर क्यों किया जा रहा है।
राजेंद्र ने कहा कि यह पहली बार हो रहा है कि जिले में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने का विरोध कोई राजनीतिक पार्टी कर रही है। यह दुर्ग जिले के निवासियों के लिये दुर्भाग्यजनक है। जिस चंदूलाल चंद्राकर स्मृति मेडिकल कॉलेज में कोरोना काल में 750 बेड का विस्तार कर हजारों मरीजों का इलाज किया गया। उस मेडिकल कॉलेज को बंद होने से रोकने के लिये भूपेश सरकार ने यह स्वागत योग्य फैसला किया है। मेडिकल कॉलेज का विरोध कर भाजपा नेताओं ने दुर्ग जिले की जनता के हितों पर आघात पहुंचाने का प्रयास किया है।
राजेंद्र साहू ने कहा कि 15 साल के भाजपा शासनकाल में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने दुर्ग जिले को मेडिकल सुविधा की कोई सौगात नहीं दी, जिससे दुर्ग जिले की जनता को लाभ हुआ हो। भूपेश सरकार द्वारा चंदूलाल चंद्राकर स्मृति मेडिकल कॉलेज के अधिग्रहण का फैसला किया गया है। इससे दुर्ग ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़वासियों को स्वास्थ्य सुविधाओं में विस्तार का लाभ मिलेगा। अधिग्रहण का विरोध कर भाजपा नेताओं ने यह जता दिया है कि वे दुर्ग जिले के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार का लाभ नहीं देना चाहते।
राजेंद्र ने कहा कि छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करने कई योजनाएं शुरू की हैं। ग्रामीण क्षेत्र में नर्सिंग होम खोलने पर 30 लाख रुपए का अनुदान देने का निर्णय लिया है। इसके अलावा केंद्रीय मंत्रियों को पत्र लिखकर सेक्टर 9 स्थित पं. जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय की स्वास्थ्य सेवाओं को अपग्रेड करने अनुमति मांगी गई, लेकिन आज तक कोई जवाब नहीं मिला। भाजपा नेताओं को दुर्ग जिले में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने में दिलचस्पी नहीं है।
अगर भाजपा नेता सचमुच छत्तीसगढ़वासियों का हित चाहते हैं तो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और इस्पात मंत्री को पत्र लिखकर सेक्टर 9 अस्पताल में सुविधाएं बढ़ाने राशि उपलब्ध कराएं। ताकि, यहां के लोगों को बेहतर इलाज की सुविधा मिल सके। आज दुर्ग व आसपास के जिले में लोगों को इलाज के लिये प्राइवेट नर्सिंग होम का सहारा लेना पड़ रहा है।
चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज के अधिग्रहण से वहां पढ़ने वाले छात्रों का भविष्य संवरेगा। भविष्य में हर साल इस मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की डिग्री लेकर डेढ़ सौ से ज्यादा डॉक्टर निकलेंगे। कॉलेज से निकलने वाले डॉक्टर छत्तीसगढ़ के अस्पतालों में मरीजों का इलाज करेंगे। भाजपा नेता बताएं कि मेडिकल कॉलेज का विरोध कर वे दुर्ग जिले की जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित क्यों करना चाहते हैं?

Related Articles