Spread the love

दक्षिणापथ, पाटन। गोंड़पेंड्री में संचालित मोहल्ला क्लास में आने वाले एक छात्र के कोविड पोसिटिव पाए जाने के बाद हड़कम्प मच गया है। किसी दिन यह मोहल्ला क्लॉस जानलेवा न बन जाये यह डर सता रहा है। कोरोना के तीसरे आक्रमण को बच्चों के लिये ज्यादा संवेदनशील माना जा रहा है। ऐसे में बच्चों को बचाने के जतन के बजाय शिक्षा विभाग उन्हें खतरे में डाल रहा है।
गौरतलब है कि कोरोना की तीसरी लहर की दस्तक से पूरा देश डर हुआ है। दूसरी लहर में अपनों को खोने का दर्द इस देश ने शिद्दत से झेला है। अब बच्चों में इस खतरे के प्रति स्वास्थ्य संगठन चेतावनी दे रहे थे। अब पाटन ब्लाक के गांव में मोहल्ला क्लास में बच्चा संक्रमित मिल गया। न जाने आने वाला समय कैसा होगा। भय का माहौल है। इसे हल्के में लेना बड़ी भूल साबित हो सकती है। सर्वोच्च न्यायालय ने स्प्ष्ट कहा है कि शिक्षण संस्थान में यदि एक भी बच्चे का कोरोना से प्राण गया, तो इसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।।

Related Articles