Spread the love

दक्षिणापथ। पहले कॉन्टेक्ट लेंस सिर्फ वही लोग लगाते थे जिनकी आंखे कमजोरी होती थी, लेकिन अब ये फैशन का हिस्सा बन गए हैं। हालांकि अगर कॉन्टेक्ट लेंस को सही तरीके से न लगाया जाए या फिर इनकी रोजाना सफाई न की जाए तो इनसे आपको फायदे की बजाय नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए अगर आप कॉन्टेक्ट लेंस लगाते हैं तो आपको खास सावधानी बरतनी चाहिए। आइए आज ऐसी ही कुछ सावधानियों के बारे में जानते हैं।
धूप में निकलने से बचें
अगर आप रोजाना कॉन्टेक्ट लेंस लगाते हैं तो आपके लिए अपनी आंखों को सूरज की हानिकारक यूवी किरणों से बचाकर रखना जरूरी है। दरअसल, आंखों में लेंस लगाने के बाद यूवी किरणों के संपर्क में आने से आपकी आंखों में संक्रमण हो सकता है। वैसे तो कई ब्रांड यूवी किरणों से सुरक्षित कॉन्टेक्ट लेंस बनाते हैं, लेकिन बेहतर यही होगा कि आप लेंस लगाने के बाद धूप का चश्मा लगाकर ही घर से बाहर निकलें।
चेहरा न धोएं
अगर आपने अपनी आंखों में कॉन्टेक्ट लेंस लगाए हुए हैं तो भूल से भी अपने चेहरे को न धोएं क्योंकि इससे आपकी आंखों और कॉन्टेक्ट लेंस दोनों को ही नुकसान पहुंच सकता है। हालांकि स्विमिंग के दौरान कॉन्टेक्ट लेंस पहनना मजबूरी है तो आंखों पर एयर टाइट गॉगल्स जरूर पहनें। इसके साथ ही यह भी ध्यान रखें कि कॉन्टेक्ट लेंस की सफाई कभी भी नल के पानी से नहीं करनी चाहिए।
आंखों को न रगड़ें
न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन में हुए एक छोटे से अध्ययन से पता चला है कि कॉन्टेक्ट लेंस पहनने के बाद आंखों को रगडऩा या फिर कहें कि मसलना नहीं चाहिए। इसका मुख्य कारण यह है कि ऐसा करने से आंखों का लाल होना, आंखों से पानी आना और दर्द जैसी कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। वहीं इससे आंखों के आस-पास कीटाणु पनप सकते हैं जो आंखों के स्वास्थ्य को काफी प्रभावित कर सकते हैं।
अधिक समय तक कॉन्टेक्ट लेंस न लगाएं
अधिक समय तक कॉन्टेक्ट लेंस लगाने से भी आंखों को नुकसान पहुंच सकता है। दरअसल, लंबे समय तक कॉन्टेक्ट लेंस पहनने के कारण आंखें रूखी हो जाती हैं क्योंकि लेंस से आंखों में हाइपरटॉनिक (बहुत ज्यादा दबाव) उत्पन्न होता है जिसकी वजह से आंखों में दिक्कत हो सकती है। इसके अलावा कॉन्टेक्ट लेंस पहनकर सोना भी गलत है क्योंकि आंखें बंद करने से लेंस वाली जगह पर ऑक्सीजन की कमी हो जाती है जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ता है।

Related Articles