Spread the love

27 आपराधिक मामलों के आरोपी पर उठते हैं संदेह के बादल ??
दक्षिणापथ,भिलाई ।
रात के अंधेरे में अचानक चलती है कई राउंड गोलियां और गोली चलाने वाले का पता नही, फिर थाने में जाकर अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध गोलियां दागने का रिपोर्ट दर्ज करवाना समय सोमवार रात तकरीबन 12:30 बजे के आसपास ..??
उसी दिन नए पुलिस अधीक्षक ने जिले में जिम्मेदारी संभाली और उन्हें गोलियां चलने की खबर मिली, मौके पर पहुचे और आनन फानन में इलॉके के टीआई कि गैर मौजूदगी पर प्रश्रचिन्ह उठाते हुए लाइन का रास्ता दिखा दिया। लेकिन फिल्मी स्टाइल में पर्दे के पीछे की कहानियों में उलझा राज़।
27 से अधिक आपराधिक मामलों में आरोपी इलाके के कुख्यात अपराधी पिंकी राय के साथ हुए गोलीकांड के इस उलझा देने वाले मामले के पीछे शातीर दिमाग द्वारा षडयंत्र रचने की ओर इशारा है। कहि इनके जाल में उलझकर पुलिस किसी बेगुनाह को आरोपी न बना दे, यह प्रश्न चिन्ह भी उठता है। संदेह इसलिए उठता है क्योंकि इस तरह का वाक्या कई वर्षों पहले घटित हो चुका है।
2009 में पिंकी राय और उसके साथी डकैती के आरोप में जेल में थे। उन आरोपियों को छुड़ाने के लिए प्रार्थियों पर दबाव बनाने की नियत से पिंकी राय के भाई शशिकांत राय ने दिनांक 02 फरवरी 2010 की शाम को ऐसे ही अपनी दुकान में गोलियां चलाकर प्रार्थियों पर झूठा आरोप लगाया था। घटना को बीते 11 साल हो गए है।
इस घटना के बाद उस समय के तत्कालीन थाना प्रभारी रमाशंकर दिवेदी ने पिंकी राय के भाई शशिकांत के द्वारा दर्ज कराए गए बयानों के आधार पर उन्ही लोगो को आरोपी बनाया था जो पिंकी राय के डकैती वाले मामले के प्रार्थी थें।
वही मंजर एक बार फिर सामने आ रहा है। कहानी की स्क्रिप्ट भी मिलती जुलती है। कहीं ऐसे शातिर बदमाश के आपसी रंजिश में पुलिस उलझकर न रह जाए जिसने “नेवई थाने” में घुसकर उप निरीक्षक की वर्दी फाड़ी थी।
कुछ वर्षों पूर्व ही 27 से अधिक प्रकरणों का आरोपी नेवई थाना में घुसकर तत्कालीन ड्यूटी ऑफिसर सब इंस्पेक्टर के साथ मारपीट और वर्दी फाड़ने के मामले में भी अपने भाई शशिकांत राय और अन्य लोगो के साथ अरोपी है।
वर्तमान गोलीकांड का प्रार्थी पिंकी राय के अनुसार सोमवार की रात चली थी गोलियां:-
टंकी मरोदा बस्ती में सोमवार आधी रात हवाई फायरिंग से हड़कंप मच गया। ऑफिस से घर जा रहे प्रार्थी ने बीच सड़क खड़े बदमाशों से रास्ता मांगा तो उन्होंने एक के बाद एक तीन हवाई फायरिंग कर दी। दो गोली प्रार्थी की कार में लगी। वहीं एक गोली टीन शेड में जा लगी। गोली की आवाज सुनते ही क्षेत्र के लोग दहशत में आ गए। घटना टंकी मरोदा बस्ती स्थित मां कल्याणी शीतला मंदिर के पास की है। सोमवार रात लगभग 12.10 बजे हुए फायरिंग की सूचना मिलते ही दुर्ग एसपी प्रशांत अग्रवाल और एएसपी संजय ध्रुव मौके पर पहुंचे थे। कार में गोली के निशान और हवाई फायरिंग के बाद दो खोखा भी जब्त किया था।
( देर रात ऑफिस से घर जा रहा था प्रार्थी)
गणेश नगर निवासी ब्रिजेश राय उर्फ पिंकी राय, उम्र 44 वर्ष ने पुलिस को बताया कि वह सोमवार रात 12 बजे कार से ऑफिस से घर जा रहा था। इसी बीच मां कल्याणी शीतला मंदिर, टंकी मरोदा के पीछे रास्ते में कुछ युवक बीच सड़क एक कार में सवार थे। कार से उतरकर रास्ता मांगा तो युवक साइड से चले जाने की बात कहने लगे। इसी बात पर उनसे बहस हो गई। बात बढ़ते देख एक युवक ने बंदूक निकाला और कार में एक के बाद एक तीन बार फायरिंग कर दी और वहां से भाग गए।

Related Articles