अब बिजली बिल बहुत कम आता है- गणेशु : बिजली बिल हाफ योजना से मध्यम वर्ग के घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को मिली बड़ी राहत जिले के 1 लाख 60 हजार उपभोक्ता हुए लाभांवित

by sadmin
Spread the love

रायपुर।  छत्तीसगढ़ सरकार ने निम्न एवं मध्यम वर्ग के घरेलू विद्युत उपभोेक्ताओं राहत पहुचाने के लिए बिजली बिल हाफ योजना 1 मार्च 2019 से प्रारंभ की है। इस योजना के प्रारंभ होने के पूर्व विद्युत उपभोक्ताओं कों भारी भरकम बिजली बिल जमा करने से आर्थिक बोझ का सामना करना पड़ रहा था। राज्य सरकार ने आम जनता की इस समस्या को समझते हुए, पूरी संवेदन शीलता के साथ बिजली बिल हाफ योजना प्रारंभ कर निम्न एवं मध्यम वर्ग के घरेलू विद्युत उपभोेक्ताओं राहत पहुचाया है। बिजली बिल में राहत मिलने से प्रदेश वासियों के चेहरे पर खुशी सहज दिखती है।
उल्लेखनीय है कि इस योजना से राज्य के 38 लाख 42 हजार 50 उपभोक्ता लाभ ले चूके है। जिससे कुल 1,336 करोड़ रूपयें की सब्सिडी राज्य सरकार से मिलने से निम्न एवं मध्यम वर्ग के घरेलू विद्युत उपभोेक्ताओं को राहत मिली है। जांजगीर-चांपा जिले के 1,60,000 उपभोक्ताओं को 49.52 करोड़ रूपयें की सब्सिडी का लाभ मिल चूकां है। विद्युत आपूर्ति को बेहतर बनाने के लिए विगत 02 वर्ष में 33/11 केबी के नये उपकेन्द्रो की स्थापना जिले में की गई है।
हजारों परिवारों में बिजली बिल के प्रति निश्चिंतता का भाव-
राज्य सरकार द्वारा बिजली बिल आधा किये जाने से हजारों परिवारों को इसका प्रत्यक्ष लाभ मिल रहा है। बिजली बिल पटाने मे बड़ी राशि व्यय नहीं होती। लोगों में बिजली बिल के प्रति निश्चिंतता का भाव आ गया है। विकासखण्ड नवागढ़ के ग्राम पचेड़ा के किसान गणेशु ने बिजली बिल दिखाते हुए खुशी जाहिर की। उसने बताया कि अब बिजली बिल बहुत कम आता है। वह अपनी आमदनी से आसानी से पटाने में सक्षम है। उसके छोटे से मकान में चार एलईडी लाईट और तीन सिलिंग फैन उपयोग होता है। इस योजना के पहले हर माह 3 से 4 सौ रूपये या अधिक बिल जमा करना पड़ता था। बड़े परिवार की जिम्मेदारी के साथ बिजली बिल की अधिक राशि भी बड़ी परेशानी का कारण बन जाता था।

Related Articles

Leave a Comment